• Name
  • Email
शनिवार, 15 दिसम्बर 2018
 
 

पत्नी के मर्डर केस में सुहैब इलियासी को दिल्ली हाईकोर्ट ने किया बरी

शुक्रवार, 5 अक्टूबर, 2018  आई बी टी एन खबर ब्यूरो
 
 
टीवी के चर्चित क्राइम शो 'इंडियाज मोस्ट वांटेड' के एंकर सुहैब इलियासी को दिल्ली हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली है। हाईकोर्ट ने एंकर-प्रोड्यूसर सुहैब इलियासी को अपनी पत्नी की हत्या के मामले में बरी कर दिया है।

बता दें कि इस मामले में पिछले साल 16 दिसंबर को सुहैब इलियासी दोषी करार दिये गये थे। 20 दिसंबर 2017 को कड़कड़डूमा कोर्ट ने इलियासी को उम्रकैद की सजा सुनाई थी। अदालत ने सुहैब पर दो लाख का जुर्माना भी लगाया था। उस वक्त अदालत ने कहा था कि सुहैब ने अपनी पत्नी की हत्या कर इसे सुसाइड का रंग दिया है। हालांकि उस वक्त अदालत से तिहाड़ जेल जाते वक्त सुहैब ने चीखते हुए कहा था कि वह बेकसूर हैं और उम्रकैद की सजा नाइंसाफी है।

अपनी सजा के खिलाफ सुहैब इलिसासी ने दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका लगाई थी। सुहैब इलियासी की याचिका पर सुनवाई जस्टिस ए मुरलीधर और जस्टिस विनोद गोयल की खंडपीठ ने की। इस बेंच ने इलियासी की अपील को मंजूर किया। इस अपील में ट्रायल कोर्ट के आजीवन कारावास के फैसले को चुनौती दी गई थी।

बता दें कि सुहैब इलियासी की पत्नी अंजू इलियासी 11 जनवरी 2000 को ईस्ट दिल्ली स्थित अपने घर में मृत मिली थीं। उस वक्त यह कहा गया था कि अंजू इलियासी की हत्या किसी धारदार हथियार से की गई है और उनकी हत्या का आरोप उनके पति सुहैब इलियासी पर लगा था। जिसके बाद 28 मार्च को सुहैब को गिरफ्तार कर लिया गया था। अंजू की मां रुकमा सिंह और बहन रश्मि सिंह का कहना था कि सुहैब अपनी पत्नी को दहेज के लिए प्रताड़ित करते थे।

सुहैब इलियासी साल 1998 से 2000 के बीच टीवी पर काफी लोकप्रिय रहे थे। सुहैब और अंजू की पहली मुलाकात 1989 में जामिया मिल्लिया इस्लामिया में हुई थी। अंजू ने परिवार वालों के विरोध के बावजूद साल 1993 में लंदन में जाकर स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत सुहैब से शादी की। बाद में दोनों के रिश्तों में दरार पड़ गई।
 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
रणदीप सिंह सुरजेवाला ने हैदराबाद, तेलंगाना में मीडिया को संबोधित किया ..
लाइव: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने हैदराबाद, तेलंगाना में मीडिया को संबोधित किया ..
 

खेल

 

देश

 
लाइव: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने हैदराबाद, तेलंगाना में मीडिया को संबोधित किया ..
 
झूठे तथ्यों को पेश करना और तथ्यों को विकृत करना पीएम मोदी के डीएनए का हिस्सा है। इस वीडियो को देखिये ..