• Name
  • Email
बुधवार, 20 नवम्बर 2019
 
 

साहित्य नोबेल पुरस्कार 2018 और 2019 की घोषणा

वृहस्पतिवार, 10 अक्टूबर, 2019  आई बी टी एन खबर ब्यूरो
 
 
पोलिश लेखिका ओल्गा टोकार्चुक और ऑस्ट्रियाई उपन्यासकार पीटर हैंडके को साहित्य का नोबेल पुरस्कार देने की घोषणा की गई है।

इनमें से ओल्गा टोकार्चुक को 2018 के लिए जबकि पीटर हैंडके को 2019 के लिए पुरस्कार देने की घोषणा की गई है। 2018 नोबेल साहित्य पुरस्कार की घोषणा पिछले साल साहित्य का नोबेल की घोषणा नहीं किए जाने के कारण की गई है।

प्रतिष्ठित पुरस्कार देने वाली स्वीडिश एकेडमी ​ने पिछले साल एक यौन उत्पीड़न कांड के कारण पुरस्कार की घोषणा नहीं की थी।

ओल्गा टोकार्चुक को पिछले साल मैन बुकर इंटरनेशनल पुरस्कार भी दिया गया था। ओल्गा टोकार्चुक को 2018 का नोबेल पुरस्कार दिया गया है। इस साल का नोबेल हैंडके को दिया गया।

एकेडमी ने एक बयान में बताया है कि 76 वर्षीय ऑस्ट्रियाई उपन्यासकार और नाटककार हैंडके को भाषाई सरलता के साथ मानवीय अनुभवों की विशेषता और परिधि के बाहर एक प्रभावशाली काम करने के लिए साहित्य का नोबेल ​दिया गया है।

वहीं, अपनी पीढ़ी के व्यवसायिक रूप से सबसे अधिक सफल लेखकों में से एक 57 साल की पोलिश लेखिका ओल्गा टोकार्चुक को जीवन की परिधियों से परे एक कथात्मक परिकल्पना करने के लिए पुरस्कार दिया गया है।

एकेडमी की सदस्य कटरीना फ्रॉस्टेंसन के पति ज़्यां क्लॉ अरनॉ के ख़िलाफ़ यौन उत्पीड़न के आरोपों के चलते पिछले साल साहित्य का पुरस्कार स्थगित कर दिया गया था। बलात्कार के मामले में दोषी ठहराये जाने के बाद अक्तूबर में उन्हें दो साल जेल की सज़ा सुनाई गई थी।

पुरस्कार प्रदान करने वाले संगठन के मुताबिक, फ्रॉस्टेंसन के हटने और हितों के टकराव और नोबेल विजेताओं के नाम लीक होने के आरोपों के कारण समारोह विवादों के दायरे में आ गया था। यह सब एकेडमी में जनता का विश्वास कम होने के कारण हुआ।

सभी ​पुरस्कार विजेताओं को 90 लाख स्वीडिश क्रोनर (यूरो 740,000) के अलावा एक मेडल और एक डिप्लोमा प्रदान किया जाएगा।
 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
बाबरी मस्जिद लगभग 450-500 सालों से वहां थी। यह मस्जिद 6 दिसंबर 1992 में तोड़ दी गई। मस्जिद का तोड़ा ..
पहले अयोध्या सिर्फ़ एक क़स्बा था लेकिन अब फ़ैज़ाबाद ज़िले का नाम ही अयोध्या हो गया है। तो क्या...
 

खेल

 

देश