• Name
  • Email
शनिवार, 30 मई 2020
 
 

इंटरनेशनल लेबर ऑर्गेनाइजेशन ने मज़दूरों के हितों को लेकर भारत को धमकी दी

वृहस्पतिवार, 14 मई, 2020  आई बी टी एन खबर ब्यूरो
 
 
संयुक्त राष्ट्र की लेबर एजेंसी इंटरनेशनल लेबर ऑर्गेनाइजेशन ने कोविड-19 के समय में श्रम कानून के निलंबन और श्रमिकों के अधिकारों के हनन को लेकर भारत को चेताया है।

भारत के तीन प्रांतों उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और गुजरात ने श्रम कानूनों को निलंबित कर दिया है। इन तीनों प्रांतों में भारत के केंद्र में सत्तारूढ़ बीजेपी का शासन है। उत्तर प्रदेश ने तीन साल के लिए श्रम कानूनों को निलंबित कर दिया है जबकि गुजरात में भी श्रम कानूनों को निलंबित किया जा रहा है। बीते अप्रैल महीने में ही गुजरात की फैक्ट्रियों में काम करने के घंटे को बढ़ाकर 12 घंटे रोज़ाना कर दिया गया है।

समाचार एजेंसी रायटर्स के मुताबिक अब तक छह राज्यों से इस तरह की ख़बरें सामने आयी हैं। कहा जा रहा है कि ये राज्य अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए ये कदम उठा रहे हैं। इनमें से ज़्यादातर वे राज्य हैं जहाँ केंद्र में सत्तारूढ़ बीजेपी की सरकारें हैं।

लेकिन इंटरनेशनल लेबर ऑर्गेनाइजेशन ने कहा है कि इस तरह का कोई भी कदम सरकार, श्रमिकों और नियोक्ताओं के बीच बातचीत के बाद ही लिया जा सकता है। ऐसा किए बिना श्रम क़ानून में किसी तरह का बदलाव अंतरराष्ट्रीय श्रम मानकों का उल्लंघन होगा।
 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
भारत में कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा है कि आर्थिक पैकेज पर केंद्र सरकार का ..
इसराइल का विरोध शिया बहुल ईरान में एक बड़ा मुद्दा है। इसराइल के साथ शांति का विरोध करने वाले फ़लस्तीनी ..
 

खेल

 

देश

 
भारत में कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा है कि आर्थिक पैकेज पर केंद्र सरकार का ..
 
भारत में रेल मंत्रालय ने कहा है कि देश के विभिन्न हिस्सों को जोड़ने वाली 230 ट्रेनों में सभी श्रेणियों के...