• Name
  • Email
शुक्रवार, 14 अगस्त 2020
 
 

रेड लाइट एरिया खोले गए तो कोरोना का ख़तरा कितना बढ़ जाएगा?

मंगलवार, 14 जुलाई, 2020  आई बी टी एन खबर ब्यूरो
 
 
भारत में कोरोना संकट के दौर में सेक्सवर्करों की स्थिति पर एक शोध अध्ययन किया गया है। इसके मुताबिक अगर रेडलाइट इलाकों को खोला गया तो अगले एक साल कम से कम चार लाख सेक्स वर्कर कोरोना की चपेट में आएंगे और उनमें हजारों की मौत हो सकती है।

एक सेक्स वर्कर अगर संक्रमित हुआ तो उससे संक्रमण सैकड़ों लोगों तक पहुंच सकता है। इस अध्ययन के मुताबिक कोविड-19 से होने वाली प्रत्येक पांच में तीन मौतें रेडलाइट इलाकों में हो सकती है।

इस शोध अध्ययन के लेखक अभिषेक पांडेय और सह-लेखिका डॉ. सुधाकर वी नूटी का कहना है कि केंद्र सरकार और राज्य सरकारों को तब तक रेडलाइट इलाकों को बंद रखना चाहिए जब तक कि कोरोना वैक्सीन उपलब्ध ना हो जाएगा।

इस अध्ययन में कोरोना के संकट के दौर में सेक्स वर्करों को स्किल्ड वर्कर बनाने की दिशा में कदम उठाने की अपील भी की गई ताकि इन लोगों के सामने आजीविका का संकट ना रहे और कोरोना संक्रमण पर भी अंकुश रहे।

इस अध्ययन का नेतृत्व करने वाले अभिषेक पांडेय येल यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर इंफेक्टियस डिजीज मॉडलिंग एंड एनालिसिस से जुड़े हैं जबकि सुधाकर वी नूटी मैसाच्यूटएस जेनरल हॉस्पीटल और हार्वर्ड मेडिकल स्कूल के मेडिसीन विभाग से संबंधित हैं।
 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
भारत के स्वास्थ्य मंत्रालय के ताज़ा आंकड़ों के अनुसार देश में बीते चौबीस घंटों में कोरोना संक्रमण के ..
आईसीसी से मिली जानकारी के अनुसार साल 2021 का टी-20 वर्ल्ड कप भारत और 2022 का टी-20 वर्ल्ड कप ऑस्ट्रेलिया ..
 

खेल

 
आईसीसी से मिली जानकारी के अनुसार साल 2021 का टी-20 वर्ल्ड कप भारत और 2022 का टी-20 वर्ल्ड कप ऑस्ट्रेलिया ..
 
एक महीने की ब्रेक के बाद बंगलुरु में ट्रेनिंग बेस पर लौटते वक्त पहले इन खिलाड़ियों की रिपोर्ट निगेटिव...
 

देश

 
भारत के स्वास्थ्य मंत्रालय के ताज़ा आंकड़ों के अनुसार देश में बीते चौबीस घंटों में कोरोना संक्रमण के ..
 
भारत छोड़ो आंदोलन की 78वीं वर्षगाँठ पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने महात्मा गांधी को याद किया ..