• Name
  • Email
शुक्रवार, 14 अगस्त 2020
 
 

हॉन्ग कॉन्ग का हॉस्पिटल सिस्टम चरमरा सकता है: कैरी लैम

बुधवार, 29 जुलाई, 2020  आई बी टी एन खबर ब्यूरो
 
 
कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में हो रही तेज़ वृद्धि को लेकर हॉन्ग कॉन्ग की चीफ एग्जीक्यूटिव कैरी लैम ने चेतावनी दी है कि शहर का हॉस्पिटल सिस्टम चरमरा सकता है।

कैरी लैम ने लोगों से घरों के अंदर ही रहने की अपील की और कहा कि शहर में बड़े पैमाने पर कोरोना वायरस फैलने वाला है, जिसकी वजह से अस्पतालों में जगह नहीं बचेगी और इससे जानें दांव पर लगेंगी। इस बीच हॉन्ग कॉन्ग में बुधवार से नए कड़े प्रतिबंध भी लागू कर दिए गए हैं।

इस बात को एक महीना भी नहीं हुआ है जब हर रोज़ 10 से भी कम मामले आ रहे थे, लेकिन अब हर रोज़ 100 से ज़्यादा मामले आ रहे हैं।

कोरोना वायरस जब शुरू में फैला था तो चीन से लोगों का हॉन्ग कॉन्ग में आना-जाना कम कर दिया गया था, 'ट्रैक एंड ट्रेस' का तरीक़ा अपनाया गया था और दूसरे प्रतिबंध लगा दिए गए थे। यही वजह है कि इस साल की शुरुआत में हॉन्ग कॉन्ग में हफ़्तों तक एक भी मामला नहीं आया था। लेकिन जब ज़िंदगी सामान्य होने लगी तो मामले बढ़ने शुरू हुए।

कोरोना वायरस के नए मामलों में तेज़ बढ़ोत्तरी के बाद हॉन्ग कॉन्ग में अब तक के सबसे कड़े नियम लागू कर दिए गए हैं। बुधवार से रेस्त्रां में खाने पर प्रतिबंध होगा, अलग घरों के सिर्फ दो लोग आपस में मिल सकते हैं। सार्वजनिक जगहों पर फेस मास्क पहनना अनिवार्य होगा।

शुरू में कोविड-19 पर कामयाबी हासिल करने वाले हॉन्ग कॉन्ग में अब लगातार हर दिन 100 से ज़्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं। इसे देखते हुए इस महीने प्रतिबंध फिर से कड़े कर दिए गए हैं। बार, जिम और ब्यूटी पार्लर पहले ही बंद कर दिए गए थे।

हॉन्ग कॉन्ग में गुरुवार को संक्रमण के और 106 मामलों की पुष्टि हुई। 23वीं मौत हुई। वहीं सोमवार को रिकॉर्ड 145 मामले दर्ज किए गए थे।

साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक़, सेंटर फॉर हेल्थ प्रोटेक्शन में संक्रामक रोग विभाग के प्रमुख डॉ चुआंग शुक-क्वान ने कहा, ''फिलहाल ढील की कोई गुंजाइश नहीं। हमें अभी भी ट्रेंड पर नज़र रखनी होगी। अभी तक हमने ख़तरनाक बढ़ोत्तरी तो नहीं देखी है। लेकिन आंकड़े चिंतित करने वाले हैं।''

जिस शख़्स की हाल में मौत हुई है वो एक केयर होम में रहते थे, जहां कम से कम 45 संक्रमण के मामले दर्ज किए गए हैं।

स्थानीय वैज्ञानिकों ने हॉन्ग कॉन्ग में फैल रहे वायरस के प्रकार को लेकर चिंता जताई है और कहा है कि ये बहुत नुक़सान पहुंचा सकता है। कहा जा रहा है कि इसमें कम से कम 22 दिन से म्यूटेशन नहीं हुआ है। इसका मतलब ये हो सकता है कि इसने इंसानी शरीर के अनुकूल खुद को ढाल लिया है और आसानी से ट्रांस्मिट हो रहा है।

ताज़ा नियम लागू करने से पहले ख़बरे आई थीं कि हॉन्ग कॉन्ग के संसदीय चुनाव एक साल के लिए टाले जा सकते हैं।

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, सरकार ने फ़ैसला ले लिया है, जिसकी आधिकारिक घोषणा बाक़ी है।
 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
भारत के स्वास्थ्य मंत्रालय के ताज़ा आंकड़ों के अनुसार देश में बीते चौबीस घंटों में कोरोना संक्रमण के ..
आईसीसी से मिली जानकारी के अनुसार साल 2021 का टी-20 वर्ल्ड कप भारत और 2022 का टी-20 वर्ल्ड कप ऑस्ट्रेलिया ..
 

खेल

 
आईसीसी से मिली जानकारी के अनुसार साल 2021 का टी-20 वर्ल्ड कप भारत और 2022 का टी-20 वर्ल्ड कप ऑस्ट्रेलिया ..
 
एक महीने की ब्रेक के बाद बंगलुरु में ट्रेनिंग बेस पर लौटते वक्त पहले इन खिलाड़ियों की रिपोर्ट निगेटिव...
 

देश

 
भारत के स्वास्थ्य मंत्रालय के ताज़ा आंकड़ों के अनुसार देश में बीते चौबीस घंटों में कोरोना संक्रमण के ..
 
भारत छोड़ो आंदोलन की 78वीं वर्षगाँठ पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने महात्मा गांधी को याद किया ..