• Name
  • Email
वृहस्पतिवार, 1 अक्टूबर 2020
 
 

भारत में 15.5 लाख करोड़ रुपये के कॉरपोरेट लोन पर ख़तरा

मंगलवार, 8 सितम्बर, 2020  आई बी टी एन खबर ब्यूरो
 
 
भारत से प्रकाशित होने वाली इंग्लिश न्यूज़ पेपर इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक़, कोविड-19 के प्रकोप और लॉकडाउन की वजह से कॉरपोरेट सेक्टर का 15.52 लाख करोड़ रुपये का कर्ज़ जोखिम में आ गया है।

ये कितना ज़्यादा है? इसे ऐसे समझा जा सकता है कि ये बैंकिग सेक्टर द्वारा इस इंडस्ट्री को दिए पूरे कर्ज़ का 29.4 प्रतिशत है।

लोन रिस्ट्रक्चरिंग के लिए फाइनेंशियल पैरामीटर्स बनाने वाली के वी कामथ कमेटी ने कहा कि 23.71 लाख करोड़ रुपये का बैंकिंग ऋण यानी बैंकिंग सेक्टर के कर्ज़ का 45 प्रतिशत कोविड-19 के अर्थव्यवस्था पर असर से पहले ही जोखिम में था।

कमेटी की रिपोर्ट के मुताबिक़ इसका मतलब ये हुआ कि बैंकिग सेक्टर के कर्ज़ का 72 प्रतिशत जो 37.72 लाख करोड़ रुपये होता है वो जोखिम में है। ये कुल नॉन-फूड बैंक क्रेडिट का क़रीब 37 प्रतिशत हिस्सा है।

कामथ कमेटी ने कहा है कि रिटेल ट्रेड, होलसेल ट्रेड, रोड और टेक्सटाइल जैसे सेक्टरों की कंपनियां मुश्किल स्थितियों का सामना कर रही हैं।

वहीं जो सेक्टर कोविड से पहले ही मुश्किलें झेल रहे थे उनमें एनबीएफ़सी, पावर, स्टील, रियल एस्टेट और कंस्ट्रक्शन शामिल है।
 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
यह दुनिया दो वैश्विक शक्तियों के टकराव को बर्दाश्त करने के लिए तैयार नहीं है। इसलिए हमें हर वो प्रयास ..
पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के रिपोर्ट हुए 86,961 नए मामलों के साथ सोमवार को भारत में संक्रमण से प्रभावित...
 

खेल

 

देश

 
पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के रिपोर्ट हुए 86,961 नए मामलों के साथ सोमवार को भारत में संक्रमण से प्रभावित...
 
जूलियो रिबेरो मुंबई पुलिस के कमिश्नर रह चुके हैं। साथ ही वो गुजरात और पंजाब पुलिस के महानिदेशक भी रह ..