• Name
  • Email
शुक्रवार, 23 अक्टूबर 2020
 
 

नोबेल पुरस्कार 2020: ब्लैक होल पर शोध के लिए तीन वैज्ञानिकों को फ़िज़िक्स का नोबेल पुरस्कार मिला

मंगलवार, 6 अक्टूबर, 2020  आई बी टी एन खबर ब्यूरो
 
 
तीन वैज्ञानिकों को ब्लैक होल को समझने के लिए किए गए उनके उल्लेखनीय कार्य पर साल 2020 का फ़िज़िक्स का नोबेल पुरस्कार दिया गया है।

रोजर पेनरोज़, रेनहर्ड जेंज़ेल, एंड्रिया गेज़ के नाम का ऐलान स्टॉकहोम में किया गया।

फ़िज़िक्स पुरस्कार कमेटी के प्रमुख डेविड हैविलैंड ने बताया, ''इस साल का अवॉर्ड ब्रह्मांड के सबसे अनोखी चीज़ को सेलिब्रेट कर रहा है।''

ब्लैक होल ब्रह्मांड का वह हिस्सा है जहां गुरुत्वाकर्षण इतना ज़्यादा है कि लाइट भी इस क्षेत्र से वापस नहीं आ सकती।

ब्रिटेन में जन्में भौतिक विज्ञानी रोजर पेनरोज़ ने दिखाया कि ब्लैक होल अल्बर्ट आइंस्टीन के जनरल रिलेटिविटी के सिद्धांत का ज़रूरी परिणाम था।

नोबेल समिति के सदस्य उल्फ डेनियलसन के अनुसार, पेनरोज़ ने ''ये कहने के लिए सैद्धांतिक नींव रखी कि ये वस्तुएं मौजूद हैं। यदि आप उनकी तलाश करें तो उन्हें पा सकते हैं।

''रेनहार्ड जेनज़ेल और एंड्रिया गेज़ ने हमारी आकाशगंगा (मिल्की-वे) के केंद्र में एक सुपरमैसिव ब्लैक होल का अभी तक सबसे ठोस सबूत प्रदान किया है।''

''इन्होंने पाया कि यह विशालकाय चीज़, जिसे सैजिटेरस A* कहते हैं।''

लॉस एंजिल्स (यूसीएलए) के कैलिफ़ोर्निया विश्वविद्यालय से अमरीकी प्रोफ़ेसर एंड्रिया गेज़ ने इस सम्मान पर कहा, ''मैं पुरस्कार प्राप्त करने के लिए रोमांचित हूं और मैं नोबेल पुरस्कार (भौतिकी) जीतने के लिए चौथी महिला होने का दायित्व बहुत गंभीरता से लेती हूँ।''
 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
किसी भी देश की जीडीपी इस बात पर निर्भर करती है कि लोगों और सरकार के पास पैसा ख़र्च करने के लिए कितना है।...
तुर्की ने पिछले कुछ सालों में अपनी सुरक्षा के लिए काफ़ी ख़र्च किया है और कर रहा है। तुर्की में...
 

खेल

 

देश

 
भारतीय नौसेना के पूर्व प्रमुख एडमिरल रामदास समेत भारत के क़रीब 120 सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारियों ने भारत...
 
भारत में सुप्रीम कोर्ट ने रिपब्लिक टीवी की टीआरपी मामले की जाँच सीबीआई से करवाने की आग्रह वाली याचिका...