• Name
  • Email
शुक्रवार, 23 अक्टूबर 2020
 
 

गुपकर घोषणापत्र: महबूबा की रिहाई के बाद फ़ारुक़ अब्दुल्ला के घर सर्वदलीय बैठक

वृहस्पतिवार, 15 अक्टूबर, 2020  आई बी टी एन खबर ब्यूरो
 
 
भारत के जम्मू-कश्मीर में पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ़्ती की रिहाई के बाद राजनीतिक सरगर्मी शुरू हो गई है।

15 अक्टूबर 2020 को श्रीनगर में जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ़्रेंस के अध्यक्ष फ़ारूक़ अब्दुल्ला के आह्वान पर एक सर्वदलीय बैठक हो रही है जिसमें जम्मू-कश्मीर की स्थिति पर चर्चा की जाएगी।

14 अक्टूबर 2020 को नेशनल कॉन्फ़्रेंस के नेता फ़ारूक़ अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला महबूबा के घर गए थे और उन्हें इस बैठक के लिए आमंत्रित किया था।

उमर अब्दुल्ला ने 14 अक्टूबर 2020 को महबूबा से मुलाक़ात के बाद कहा, "हम उनके घर किसी राजनीतिक इरादे से नहीं बल्कि केवल उनका हाल-चाल पूछने गए थे। गुरुवार (15 अक्टूबर 2020) की बैठक में मौजूदा राजनीतिक हालात की समीक्षा की जाएगी और 'गुपकर घोषणापत्र' के आगामी एजेंडे के बारे में भी चर्चा की जाएगी।''

श्रीनगर में 4 अगस्त 2019 को नेशनल कॉन्फ़्रेंस के अध्यक्ष फ़ारूक़ अब्दुल्ला के घर एक सर्वदलीय बैठक हुई थी। वहाँ पारित घोषणापत्र को 'गुपकर घोषणापत्र' का नाम दिया गया था।

जम्मू-कश्मीर के बीजेपी प्रमुख रविंदर रैना ने फ़ारूक़ अब्दुल्ला, उनके बेटे उमर अब्दुल्ला और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ़्ती के बीच हुई मुलाक़ात की आलोचना की है और कहा है कि कश्मीर को लहूलुहान करने की किसी भी साज़िश का गंभीर नतीजा होगा।
 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
किसी भी देश की जीडीपी इस बात पर निर्भर करती है कि लोगों और सरकार के पास पैसा ख़र्च करने के लिए कितना है।...
तुर्की ने पिछले कुछ सालों में अपनी सुरक्षा के लिए काफ़ी ख़र्च किया है और कर रहा है। तुर्की में...
 

खेल

 

देश

 
भारतीय नौसेना के पूर्व प्रमुख एडमिरल रामदास समेत भारत के क़रीब 120 सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारियों ने भारत...
 
भारत में सुप्रीम कोर्ट ने रिपब्लिक टीवी की टीआरपी मामले की जाँच सीबीआई से करवाने की आग्रह वाली याचिका...