• Name
  • Email
शुक्रवार, 23 अप्रैल 2021
 
 

व्लादिमीर पुतिन को मिली संवैधानिक ताक़त, 2036 तक सत्ता में बने रह सकते हैं

सोमवार, 5 अप्रैल, 2021  आई बी टी एन खबर ब्यूरो
 
 
रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने सोमवार, 05 अप्रैल 2021 को उस विधेयक पर दस्तख़त किए जो 2036 तक उन्हें सत्ता में बनाए रखने की ताक़त प्रदान करता है। यह क़दम संवैधानिक बदलावों को औपचारिक रूप देता है।

इस विधेयक पर दस्तख़त के साथ ही उन्हें राष्ट्रपति के पद पर अन्य दो कार्यकाल तक बने रहने की अनुमति मिल गई है।

इसके साथ ही संभावना है कि पुतिन रूसी तानाशाह जोसेफ़ स्टालिन से भी ज़्यादा लंबे वक्त तक सत्ता में रहने वाले नेता बन सकते हैं।

हालाँकि क़रीब दो दशकों से सत्ता में आसीन पुतिन ने कहा कि वो इस पर बाद में फ़ैसला करेंगे कि क्या वर्तमान कार्यकाल के छह वर्ष पूरे होने के बाद भी वे फिर सत्ता हासिल करने की होड़ में रहेंगे या नहीं।

बीते वर्ष ही रूस में इस संविधान संशोधन के लिए एक जनमत संग्रह करवाया गया था। लोगों ने इसका जोरदार समर्थन किया था। इसके बाद बीते महीने ही सांसदों ने इस विधेयक को मंजूरी भी दे दी थी।

पुतिन पहली बार 2000 में राष्ट्रपति बने थे। उन्होंने दो बार चार-चार साल के कार्यकाल पूरे किए। इसके बाद उनके सहयोगी दिमित्रि मेदेवदेव 2008 में राष्ट्रपति बने। 2012 में पुतिन की सत्ता में एक बार फिर वापसी हुई और 2018 में भी उन्होंने जीत हासिल की।
 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
झारखण्ड की राजधानी राँची और पूर्वी सिंहभूम ज़िलों से हाल में लिये गए सैंपलों में से कम से कम 33 प्रतिशत सैंपलों में सीओवीआईडी के यूके स्ट्रेन और डबल म्यूटेंट वाले वायरस की पुष्टि हुई ...
एक सप्ताह पहले तक भारत, कुल मामलों के लिहाज़ से अमेरिका और ब्राज़ील के बाद तीसरे स्थान पर था। लेकिन पिछले एक सप्ताह में भारत में बहुत तेज़ी से संक्रमण बढ़ा है। कोरोना के कुल मामलों के लिहाज़ से ...
 

खेल

 
एकदिवसीय क्रिकेट की दुनिया के शीर्ष क्रम के बल्लेबाज़ों की आईसीसी रैंकिंग में लंबे समय से टॉप पर रहे विराट कोहली का ताज बुधवार, 14 अप्रैल, 2021 को उस वक्त छिन गया जब पाकिस्तान क्रिकेट टीम ...
 

देश

 
भारत में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार, 20 अप्रैल 2021 को केंद्र की मोदी सरकार की वैक्सीन नीति की आलोचना करते हुए ये आरोप लगाया कि ये भेदभावपूर्ण है और इसमें समाज के कमजोर तबकों ...
 
जानेमाने अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन ने ममता बनर्जी सरकार की कल्याणकारी योजनाओं की तारीफ़ करते हुए कहा कि राज्य में भ्रष्टाचार की समस्या का भी हल निकाले जाने की ज़रूरत है ...