• Name
  • Email
शुक्रवार, 23 अप्रैल 2021
 
 

माओवादियों ने कहा, जवान की रिहाई के लिए सरकार से वार्ता को तैयार

बुधवार, 7 अप्रैल, 2021  आई बी टी एन खबर ब्यूरो
 
 
भारत में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) ने छत्तीसगढ़ के बीजापुर में हुए हमले और एक जवान की रिहाई के लिए सरकार से बातचीत की पेशकश की है।

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार माओवादियों ने एक प्रेस नोट जारी कर कहा है, ''बीजापुर हमले में सुरक्षाबलों के 24 जवानों की जान गई। 31 जवान घायल हुए। 1 जवान हमारी हिरासत में है। इस मुठभेड़ में पीपुल्स लिब्रेशन गुरिल्ला आर्मी के 4 जवानों की भी जान गई। इस घटना पर हम सरकार से बातचीत को तैयार हैं। वो मध्यस्थों की घोषणा कर सकते हैं। बातचीत के बाद हम उस जवान को रिहा कर देंगे।''

इस प्रेस नोट में माओवादियों ने लिखा है कि आम पुलिसवाले हमारे दुश्मन नहीं हैं और घटना में मारे गये पुलिसवालों के परिजनों को हम खेद प्रकट करते हैं।

माओवादियों ने इस वक्तव्य में लिखा है कि पुलिस बल के 2000 से ज़्यादा जवान सुकमा और बीजापुर ज़िलों के गाँवों पर हमला करने आये थे, जिसकी योजना अमित शाह के नेतृत्व में बनायी गई थी।

माओवादियों के अनुसार, नवंबर 2020 में शुरू हुए इस सैन्य अभियान में 150 से ज़्यादा ग्रामीणों की हत्या की गई जिसमें कुछ हमारे पार्टी कार्यकर्ता और नेता भी थे।

नोट के अंत में माओवादियों ने लिखा है कि मोदी-शाह भले ही कितने भारी हत्याकाण्ड की योजना बना लें, हम उन सभी योजनाओं का जनयुद्ध के माध्यम से मुँहतोड़ जवाब देंगे।
 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
झारखण्ड की राजधानी राँची और पूर्वी सिंहभूम ज़िलों से हाल में लिये गए सैंपलों में से कम से कम 33 प्रतिशत सैंपलों में सीओवीआईडी के यूके स्ट्रेन और डबल म्यूटेंट वाले वायरस की पुष्टि हुई ...
एक सप्ताह पहले तक भारत, कुल मामलों के लिहाज़ से अमेरिका और ब्राज़ील के बाद तीसरे स्थान पर था। लेकिन पिछले एक सप्ताह में भारत में बहुत तेज़ी से संक्रमण बढ़ा है। कोरोना के कुल मामलों के लिहाज़ से ...
 

खेल

 
एकदिवसीय क्रिकेट की दुनिया के शीर्ष क्रम के बल्लेबाज़ों की आईसीसी रैंकिंग में लंबे समय से टॉप पर रहे विराट कोहली का ताज बुधवार, 14 अप्रैल, 2021 को उस वक्त छिन गया जब पाकिस्तान क्रिकेट टीम ...
 

देश

 
भारत में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार, 20 अप्रैल 2021 को केंद्र की मोदी सरकार की वैक्सीन नीति की आलोचना करते हुए ये आरोप लगाया कि ये भेदभावपूर्ण है और इसमें समाज के कमजोर तबकों ...
 
जानेमाने अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन ने ममता बनर्जी सरकार की कल्याणकारी योजनाओं की तारीफ़ करते हुए कहा कि राज्य में भ्रष्टाचार की समस्या का भी हल निकाले जाने की ज़रूरत है ...