• Name
  • Email
बुधवार, 20 अक्टूबर 2021
 
 

राहुल गांधी ने पश्चिम बंगाल की सारी रैलियां रद्द की: क्या बाकी नेता अपने रोड शो और रैलियां रद्द करेंगे?

रविवार, 18 अप्रैल, 2021  परवेज़ अनवर, एमडी & सीईओ, आईबीटीएन ग्रुप
 
 
भारत में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पश्चिम बंगाल में होने वाली अपनी सारी रैलियों को रद्द कर दिया है। उन्होंने कहा कि ये फ़ैसला कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए लिया गया है और दूसरे नेताओं से भी इस बारे में सोचने की अपील की।

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, ''सीओवीआईडी के कारण पैदा हुए हालात को देखते हुए मैं पश्चिम बंगाल में अपनी सारी रैलियां रद्द कर रहा हूं। मैं दूसरी पार्टियों के नेताओं से भी अपील करता हूं इन हालात में ऐसी रैलियों के परिणाम के बारे में गंभीरता से सोचें।''

राहुल गांधी ने वैसे पश्चिम बंगाल में इस बार चुनाव प्रचार से खुद को दूर रखा है। उन्होंने पाँचवें चरण के लिए 14 अप्रैल 2021 को पहली बार प्रदेश में कोई रैली की थी।

भारत के राज्य पश्चिम बंगाल में पांच चरणों के चुनाव हो चुके हैं, तीन चरणों के लिए वोटिंग अभी होनी है। पश्चिम बंगाल में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बावजूद कई बड़े नेताओं की रोज़ाना रैलियाँ और रोड शो हो रहे हैं.

शनिवार, 17 अप्रैल 2021 को पश्चिम बंगाल में पाँचवें चरण के मतदान के दिन बीजेपी की ओर से भारत के प्रधानमंत्री और बीजेपी नेता नरेंद्र मोदी ने भी रैली की और भारत के केंद्रीय गृह मंत्री और बीजेपी नेता अमित शाह ने रोड शो किया।

रविवार, 18 अप्रैल 2021 को पश्चिम बंगाल में छठे चरण के चुनाव से पहले बीजेपी नेता और गृह मंत्री अमित शाह ने नदिया ज़िले में एक रोड शो के बाद पूर्बस्थली उत्तर में एक रैली को संबोधित किया।

बीजेपी नेता और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 22 अप्रैल 2021 और 24 अप्रैल 2021 को पश्चिम बंगाल का दौरा करने वाले हैं।

22 अप्रैल 2021 को छठे चरण के मतदान के दिन बीजेपी नेता नरेंद्र मोदी मालदा और मुर्शिदाबाद में सभाएँ करेंगे। वहीं 24 अप्रैल को बीजेपी नेता नरेंद्र मोदी बोलपुर और दक्षिण कोलकाता में रैलियाँ करेंगे।

सबसे बड़ा सवाल कि क्या नेताओं के रोड शो और रैलियों से कोरोना संक्रमण नहीं फैलेंगे? सच्चाई ये है कि नेताओं के रोड शो और रैलियों से कोरोना संक्रमण बहुत तेजी से फैलेगी। फिर चुनाव आयोग इन रोड शो और रैलियों पर रोक क्यों नहीं लगाती?

हालाँकि पश्चिम बंगाल में कोरोना की बिगड़ती स्थिति को देखते हुए चुनाव आयोग ने शुक्रवार, 16 अप्रैल 2021 को चुनाव प्रचार पर कुछ पाबंदियाँ लगा दी हैं।

चुनाव आयोग ने आदेश दिया है कि अब चुनाव प्रचार 10 बजे रात की जगह सात बजे शाम तक ही समाप्त करना होगा।

साथ ही चुनाव आयोग ने आगामी तीन चरणों के चुनाव के लिए प्रचार ख़त्म करने की समयसीमा को बढ़ा दिया है।

अब इन चरणों के लिए प्रचार मतदान के दिन से 72 घंटे पहले ख़त्म करना होगा जो कि पहले 48 घंटे था।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बचे हुए चरणों के चुनाव एक ही साथ कराने की अपील चुनाव आयोग से की है। लेकिन चुनाव आयोग ने ममता की सलाह नहीं मानी। चुनाव आयोग ने जो भी कदम उठाये हैं वो कोरोना संक्रमण की बिगड़ती स्थिति को देखते हुए नाकाफी हैं। चुनाव के बाद पश्चिम बंगाल में कोरोना महामारी बहुत तेजी से फैलेगी इसके लिए चुनाव आयोग जिम्मेदार होगा।
 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
चीन ने कहा है कि वे भारत के उप-राष्ट्रपति एम. वैंकेया नायुडू के हालिया अरुणाचल प्रदेश दौरे का विरोध करता है। चीन के विदेश विभाग के प्रवक्ता ज़ाओ लिजियान ने बुधवार, 13 अक्टूबर 2021 को ...
भारत के राज्य केरल में भारी बारिश और बाढ़ के कारण नौ लोगों की जान चली गई है और 20 लोग लापता हैं। केरल के कोट्टायम और इडुक्की ज़िलों में घरों के मलबे और भूस्खलन के बीच ...
 

खेल

 

देश

 
भारत के जम्मू संभाग में नियंत्रण रेखा से सटे पुंछ ज़िले के घने जंगलों में छिपे आतंकवादियों ने गुरुवार, 14 अक्टूबर 2021 की देर शाम भारतीय सेना की टुकड़ी पर एक दफा फिर घात लगा ...
 
भारत में शिवसेना नेता और सांसद संजय राउत ने रविवार, 17 अक्टूबर 2021 को बीजेपी और केंद्र सरकार पर केंद्रीय जांच एजेंसियों के दुरुपयोग का आरोप लगाया है। उन्होंने आरोप लगाया ...