• Name
  • Email
बुधवार, 20 अक्टूबर 2021
 
 

पीएम इमरान ख़ान ने कश्मीर, तालिबान और क्रिकेट के बारे में क्या कहा?

सोमवार, 11 अक्टूबर, 2021  आई बी टी एन खबर ब्यूरो
 
 
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने ब्रिटेन के न्यूज़ पॉर्टल मिडिल ईस्ट आई को दिए इंटरव्यू में दावा किया है कि भारत का कश्मीर एक ओपन जेल है।

इमरान ने दावा किया कि कश्मीर में नौ लाख भारतीय सैनिकों ने अस्सी लाख लोगों को क़ैद में रखा हुआ है।

उन्होंने कहा, ''इस समय हमारा ध्यान भारत और पाकिस्तान के बीच विवादित क्षेत्र पर होना चाहिए जहां मानवाधिकारों का उल्लंघन हो रहा है। कश्मीर भारत और पाकिस्तान के बीच विवादित मुद्दा है और ये बात यूएन की सुरक्षा परिषद के दो प्रस्ताव भी मानते हैं।''

इमरान ख़ान ने कहा कि गेंद अब भारत के पाले में है, ''भारत अनिश्चितकाल के लिए इन लोगों को ओपन जेल में नहीं रख सकता।''

इमरान ख़ान ने कहा कि इस वक्त दुनिया में एक न्यूक्लियर फ़्लैशप्वाइंट और वो है इंडिया और पाकिस्तान के बीच। उन्होंने कहा कि ऐसे हालात दुनिया में और कहीं नहीं हैं।

चीन के वीगर मुसलमानों के मानवाधिकार उल्लंघन के बारे में इमरान ख़ान ने कहा कि उन्होंने चीन से इस पर बात की है और चीन ने अपना पक्ष रखा है।

उन्होंने कहा, ''लेकिन पाकिस्तान और चीन के रिश्ते ऐसे हैं कि हम सारी बातें बंद दरवाज़े के भीतर करते हैं। हम इसके बारे में सार्वजनिक रूप से कुछ नहीं कहना चाहते।''

अमेरिका और तालिबान

इमरान ख़ान ने कहा है कि अमेरिका को अफ़ग़ानिस्तान में हुई हार से उबरते हुए वहां सहायता भेजनी चाहिए ताकि पास मंडरा रही एक मानवीय आपदा को टाला जा सके।

इमरान ख़ान ने कहा, ''पाकिस्तान के लिए यह महत्वपूर्ण है कि अमेरिका इस चुनौती को लेकर क़दम उठाए नहीं तो उनका देश, जहां अमेरिकी नेतृत्व में आतंक के ख़िलाफ़ लड़ाई से जुड़े संघर्ष में हज़ारों लोगों की मौत हुई है, एक बार फिर इसकी भारी कीमत चुकाएगा।''

उन्होंने पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में दिए इस इंटरव्यू में कहा, ''यह वाकई बेहद महत्वपूर्ण समय है और अमेरिका को अपनी भावनाओं पर नियंत्रण करना होगा क्योंकि वहां लोग सदमे की स्थिति में हैं।''

इमरान ने कहा, ''दुनिया को अफ़ग़ानिस्तान के साथ जुड़ना चाहिए क्योंकि अगर वो इसे दूर हटाएंगे तो तालिबान के भीतर कट्टरपंथी भी हैं और यह आसानी से 2000 के तालिबान जैसा बन सकता है और यह बड़ी आपदा होगी।''

हाल ही में न्यूज़ीलैंड और इंग्लैंड की क्रिकेट टीमों ने अपने पाकिस्तान दौरे सुरक्षा कारणों के चलते रद्द कर दिए थे।

इमरान ख़ान ने कहा कि इन टीमों की सुरक्षा चिंताएं निराधार थीं। उन्होंने कहा कि भारतीय क्रिकेट बोर्ड काफ़ी शक्तिशाली है क्योंकि उसके पास पैसे की कमी नहीं है।

उन्होंने कहा कि जो न्यूज़ीलैंड और इंग्लैंड ने पाकिस्तान के साथ किया वो भारत के साथ कभी नहीं कर सकते।
 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
चीन ने कहा है कि वे भारत के उप-राष्ट्रपति एम. वैंकेया नायुडू के हालिया अरुणाचल प्रदेश दौरे का विरोध करता है। चीन के विदेश विभाग के प्रवक्ता ज़ाओ लिजियान ने बुधवार, 13 अक्टूबर 2021 को ...
भारत के राज्य केरल में भारी बारिश और बाढ़ के कारण नौ लोगों की जान चली गई है और 20 लोग लापता हैं। केरल के कोट्टायम और इडुक्की ज़िलों में घरों के मलबे और भूस्खलन के बीच ...
 

खेल

 

देश

 
भारत के जम्मू संभाग में नियंत्रण रेखा से सटे पुंछ ज़िले के घने जंगलों में छिपे आतंकवादियों ने गुरुवार, 14 अक्टूबर 2021 की देर शाम भारतीय सेना की टुकड़ी पर एक दफा फिर घात लगा ...
 
भारत में शिवसेना नेता और सांसद संजय राउत ने रविवार, 17 अक्टूबर 2021 को बीजेपी और केंद्र सरकार पर केंद्रीय जांच एजेंसियों के दुरुपयोग का आरोप लगाया है। उन्होंने आरोप लगाया ...