• Name
  • Email
रविवार, 29 मई 2022
 
 

श्रीलंका में हिंसा और आगजनी करने वालों को देखते ही गोली मारने का आदेश

बुधवार, 11 मई, 2022  आई बी टी एन खबर ब्यूरो
 
 
श्रीलंका के रक्षा मंत्रालय ने मंगलवार, 10 मई, 2022 की शाम को सार्वजनिक संपत्ति को नुक़सान पहुँचाने वाले या किसी की जान के लिए ख़तरा बनने वाले व्यक्ति को देखते ही गोली मारने का आदेश जारी किया है।

अब तक के सबसे बुरे आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका में विरोध प्रदर्शन हिंसक होते जा रहे हैं और दंगों की शक्ल ले रहे हैं।

श्रीलंका के रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता नलिन हेरथ ने कहा, ''सुरक्षा बलों को सार्वजनिक संपत्ति को लूटने या जान को नुक़सान पहुँचाने वाले किसी भी व्यक्ति को देखते ही गोली मारने का आदेश दिया गया है।''

दरअसल, इससे ठीक एक दिन पहले प्रदर्शनकारियों के एक समूह ने सत्तारूढ़ दल के नेताओं के घरों को निशाना बनाया और इसे आग के हवाले कर दिया। यहाँ तक कि राष्ट्रपति के आधिकारिक आवास के आसपास के इलाकों में भी आग लगा दी गई। अब हालात को देखते हुए श्रीलंका की सेना और पुलिस को आपातकालीन शक्तियां दी गई हैं।

सेना के लिए मिली इन नई आपातकालीन शक्तियों का मतलब है कि सेना लोगों को पुलिस को सौंपने से पहले 24 घंटे तक हिरासत में रख सकती है जबकि निजी वाहनों सहित निजी संपत्ति की कभी भी तलाशी ली जा सकती है।

श्रीलंका में ईंधन, खाने, दवा और आधारभूत चीज़ों की भयंकर कमी है, जिसे लेकर बीते एक महीने से भी अधिक समय से आमलोग राजपक्षे परिवार के खिलाफ़ कोलंबो की सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे हैं।

बीते सप्ताह तक ज्यादातर प्रदर्शन शांतिपूर्ण थे लेकिन बीते कुछ दिनों से प्रदर्शन हिंसक होते जा रहे हैं।

प्रदर्शन कर रहे लोगों की मांग है कि श्रीलंका में आए भयानक आर्थिक संकट के लिए राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे ज़िम्मेदार हैं और वो इस्तीफ़ा दें।

इससे पहले सोमवार, 9 मई, 2022 को उनके भाई और श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने अपने पद से इस्तीफ़ा दिया था। लेकिन इस इस्तीफ़े से उग्र प्रदर्शनकारियों का गुस्सा शांत नहीं हुआ।

मंगलवार, 10 मई, 2022 को सरकार ने सुरक्षाबलों को ये अधिकार दे दिया है कि अगर कोई व्यक्ति 'किसी की जान के लिए ख़तरा बनता है' तो उसे सुरक्षा बल सीधे गोली मार दें।

श्रीलंका की राजधानी कोलंबो की सड़कों पर दसियो हज़ार थल सेना, नौसेना और वायुसेना के सैनिकों की तैनाती की गई है जो शहर की पेट्रोलिंग कर रहे हैं।

कोलंबो के गलैस फेस ग्रीन पार्क में बड़ी तादाद में प्रदर्शनकारी इकट्ठा हो रहे हैं।

पुलिस के मुताबिक़ हिंसक प्रदर्शनों में अब तक आठ लोगों की मौत हुई है और शहर के मुख्य अस्पताल ने बीबीसी को बताया कि अब तक कुल 200 लोग हिंसक प्रदर्शनों में घायल हुए हैं।
 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
ऑस्ट्रेलिया के निवर्तमान प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने शनिवार, 21 मई, 2022 को हुए आम चुनावों में अपनी हार स्वीकार कर ली है ...
दिल्ली के राउज़ एवेन्यू कोर्ट ने शनिवार, 21 मई, 2022 को हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला को आमदनी के ज्ञात स्रोतों से अधिक संपत्ति रखने के एक मामले में कसूरवार ...
 

खेल

 
भारत की निख़त ज़रीन ने 52 किलो भार वर्ग में महिलाओं की वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप जीतकर इतिहास रच दिया है ...
 
उमरान मलिक आईपीएल के मौजूदा सीजन में तेज़ गेंदबाज़ी की नई सनसनी के तौर पर सामने आए हैं। बीसीसीआई के सेलेक्टर्स ने उन्हें रविवार, 22 मई, 2022 को इसका इनाम दिया ...
 

देश

 
भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 31वीं पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है ...
 
भारत के राज्य राजस्थान के जयपुर में हो रही बीजेपी की राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल के दिनों में राष्ट्र भाषा पर छिड़ी बहस पर अपनी राय दी है ...