• Name
  • Email
सोमवार, 28 नवम्बर 2022
 
 

अमेरिका के रैपर टेकऑफ की गोली मारकर हत्या

मंगलवार, 1 नवम्बर, 2022  आई बी टी एन खबर ब्यूरो
 
 
अमेरिकी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मिगोस बैंड के रैपर टेकऑफ की ह्यूस्टन में गोली मारकर हत्या कर दी गई है।

पुलिस ने वैरायटी मैगजीन को बताया कि रैपर की मंगलवार, 1 नवम्बर 2022 की सुबह एक बोलिंग एले में हत्या कर दी गई थी। यहां पर वे अपने अंकल और साथी क्वावो के साथ खेल रहे थे।

28 साल के रैपर टेकऑफ का असली नाम किर्शनिक खारी बॉल था।

मिगोस अपनी पीढ़ी के सबसे प्रभावशाली ग्रुप्स में से एक थे। ये चॉपी, स्टैकाटो ट्रिपल जैसी रैपिंग की कला में मास्टर थे।

यह बैंड साल 2022 की शुरुआत में अलग हो गया था, जिसके बाद उसने बैड एंड बौजी और वॉक इट टॉक जैसे इंटरनेशनल हिट्स दिए।

पुलिस ने बताया कि एक प्राइवेट पार्टी में 40 से 50 मेहमान थे, अचानक किसी ने गोलियां बरसानी शुरू कर दी।

टेकऑफ, ऑफसेट और क्वावो से मिलकर मिगोस बैंड बना था। तीनों जॉर्जिया के लॉरेंसविले में एक साथ बड़े हुए थे। तीनों राजधानी अटलांटा का नाम रोशन करने आए थे।

टेकऑफ ने कहा था, ''संगीत, गरीबी से बचने का एक रास्ता था। मैं खाली समय में खुद को रिकॉर्ड कर लेता था और बीट की तलाश करता था और कुछ कुछ अपने लिए बनाता था।''

कैसे हुई शुरुआत

साल 2010 में इस बैंड ने मिगोस के रूप में अपनी शुरुआत की और वर्साचे के साथ अपनी पहला हिट दिया। इसे 2013 में ड्रेक से रीमिक्स मिला था।

साल 2015 में जॉर्जिया स्टेट यूनिवर्सिटी में एक शो के बाद ग्रुप की टूर बस पर पुलिस छापा पड़ा था। इसके बाद बैंड के एक सदस्य ऑफसेट को जेल जाना पड़ा था। उस समय बैंड को कुछ समय के लिए मुश्किलों का सामना करना पड़ा।

फिर उन्होंने मिक्सटेप बैक टू द बंदो जारी की, जिसमें हिट गाना 'लुक एट माई डेब' शामिल था।
 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
अमेरिकी सेना के शीर्ष जनरल मार्क मिले ने कहा है कि अगर चीन ताइवान पर हमला करता है तो ये उसके लिए एक रणनीतिक चूक होगी ...
अमेरिका की रिपब्लिकन पार्टी ने हाल ही में संपन्न हुए मध्यावधि चुनाव में अमेरिकी संसद की प्रतिनिधि सभा में अपना दबदबा कायम कर लिया है ...
 

खेल

 
क़तर में रंगारंग कार्यक्रम के साथ फ़ुटबॉल वर्ल्ड कप शुरू हो गया है ...
 
फ़ीफ़ा विश्व कप में दो बार के विश्व चैंपियन अर्जेंटीना पर सऊदी अरब की जीत के बाद बुधवार, 23 नवम्बर 2022 को एक और बड़ा उलट-फेर हुआ है। आज बारी जापान की थी ...
 

देश

 
भारत के मुख्य न्यायाधीश डीवाई चंद्रचूड़ ने शनिवार, 19 नवम्बर 2022 को कहा कि निचली अदालत के जज गंभीर मामलों में ज़मानत देने से बचते हैं क्योंकि उन्हें एक तरीके का डर ...
 
भारत के सुप्रीम कोर्ट ने अरुण गोयल को 19 नवंबर 2022 को चुनाव आयुक्त नियुक्त किए जाने के तरीके पर कड़ी नाराज़गी जताई है ...