• Name
  • Email
सोमवार, 28 नवम्बर 2022
 
 

सुप्रीम कोर्ट ने फर्जी दवा दुकानों और डॉक्टरों को लेकर बिहार सरकार को फटकार लगाई

सोमवार, 21 नवम्बर, 2022  आई बी टी एन खबर ब्यूरो
 
 
भारत के राज्य बिहार में फर्जी दवा दुकानों और डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने बिहार सरकार को फटकार लगाई है।

समाचार एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार, सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि वह बिहार सरकार को लोगों के जीवन के साथ खिलवाड़ करने की अनुमति नहीं दे सकता है।

बिहार में फर्जी फार्मासिस्टों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर फार्मासिस्ट मुकेश कुमार ने सुप्रीम कोर्ट में पटना हाई कोर्ट के आदेश के खिलाफ याचिका दाखिल की थी।

सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एमआर शाह और जस्टिस एमएम सुंदरेश की पीठ ने याचिका पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है।

पटना हाई कोर्ट ने 9 दिसंबर, 2019 को मुकेश कुमार से फर्जी चिकित्सकों के नाम देने को कहा था ताकि उनके खिलाफ जरूरी कार्रवाई की जा सके।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, ''यह एक गंभीर मुद्दा है। यह बिहार सरकार की ड्यूटी है कि राज्य में नकली फार्मासिस्ट, एक भी अस्पताल या मेडिकल की दुकान न चला पाएं। हम राज्य सरकार को लोगों के जीवन के साथ खिलवाड़ नहीं करने दे सकते।''

बेंच ने कहा, ''अगर कोई अप्रशिक्षित व्यक्ति गलत दवा देता है या गलत खुराक देता है तो यह लोगों के लिए खतरनाक साबित होगा। इसके लिए किसे जिम्मेदार ठहराया जाएगा? बिहार जैसे राज्यों में परेशानी सिर्फ फर्जी फार्मासिस्टों तक ही सीमित नहीं हैं बल्कि फर्जी डॉक्टरों की भी है।''
 
 
 
 
 
 
 
 
 

खास खबरें

 
अमेरिकी सेना के शीर्ष जनरल मार्क मिले ने कहा है कि अगर चीन ताइवान पर हमला करता है तो ये उसके लिए एक रणनीतिक चूक होगी ...
अमेरिका की रिपब्लिकन पार्टी ने हाल ही में संपन्न हुए मध्यावधि चुनाव में अमेरिकी संसद की प्रतिनिधि सभा में अपना दबदबा कायम कर लिया है ...
 

खेल

 
क़तर में रंगारंग कार्यक्रम के साथ फ़ुटबॉल वर्ल्ड कप शुरू हो गया है ...
 
फ़ीफ़ा विश्व कप में दो बार के विश्व चैंपियन अर्जेंटीना पर सऊदी अरब की जीत के बाद बुधवार, 23 नवम्बर 2022 को एक और बड़ा उलट-फेर हुआ है। आज बारी जापान की थी ...
 

देश

 
भारत के मुख्य न्यायाधीश डीवाई चंद्रचूड़ ने शनिवार, 19 नवम्बर 2022 को कहा कि निचली अदालत के जज गंभीर मामलों में ज़मानत देने से बचते हैं क्योंकि उन्हें एक तरीके का डर ...
 
भारत के सुप्रीम कोर्ट ने अरुण गोयल को 19 नवंबर 2022 को चुनाव आयुक्त नियुक्त किए जाने के तरीके पर कड़ी नाराज़गी जताई है ...